Tag «sindhiyat»

लद॒पण जे जाखडे में मूंझयलि सिंध जी हिंदु बरादरी

लद॒पणि सिंधी हिंदुनि  लाई का नई गा॒ल्हि नाहे। इहा हजारनि सालनि खां पई लहिंदी पई अचे। अर्बनि जे काहि बैद सिंधीयूनि जी चङी लद॒पण थी हूईं इहा हिक ऐतहासिक सचाई आहे, साणु साणु इहा भी हिक हकिकत आहे तह इन लद॒पणि जो हिकु सबबु जोरी मूसलमानु कोम में शामिलि  करण जू वारदातयूं  पिणि हयूं । …

हिंदु सिंधी आखिर आहिनि किथों जा

सिंध तोडे पाकस्थानि में हिंदूनि ते वयलि का नई गा॒ल्हि नाहे। इहो सालन खां पया लहिंदो अचिनि।1947 में जदहि विरहाङो थयो तह 23 सेकिडो हिंदु हवा जेके हिअर मस 2 सेकडो वञी रहया आहिनि। जेकद॒हीं उभिरंदे पाकस्तानि (हाणे बंगलादेश) जी गाल्हि कजे तह उते भी सिंध वाङुरु ई हाल हो। हिंदुनि जी चङी आबादी हुई। …

मूंहिजे बलाग लिखण जो मक्सद

आऊं छो पयो बलाग लिखां ईनटरनेट मे सिंधी में मूवादु (वेब सईट तोडे बलाग़) खास करे देवनागरी सिंधी में नह जे बराबर आहे । ईन जा चङा सबब अहिनि- जिऐं – सिंधी ब़ोली हो वाहिपो घटिजणि, सिंधी ते हिंदीअ जो हिक नमुने जो दब़ाव, ब़े खे द़िसी संदिन जेडहो थिअण जी रिस ऐं पंहिजे सफाकत …