Tag «hindu sindhi»

सिंध जी हिंदु बरादरि -आखिर केसिताईं असीं माठि रहिंदासिं

1947 में विरहांङे बैदि जेके सिंधी अग॒वाणि गांधीजीअ साणु पहिरों भेडो ग॒द॒या तनि जो चवण हो तह गांधीजी जेको पहिरों बयानि दि॒ञो सो इहो ईहो ई हो – चोऊ हिंदु-सिंधूनि खे तह यकदमि सिंध वांदाईनि। छो गांधीजी इऐं चयो इन जो जवाबु अजु असां जे अग॒यां आहे। जेके लद॒या, लद॒पण जा दु॒ख सठा तनि नेठि …

अरडहणो सिंधी संमेलनि- टाक शो या फलाप शो.

अड्हणो सिंधी संमेलनि- टाक शो या फलाप शो.   हिन सालि इहो वारो हो अहमदाबादि जो- अड्हिंऐ सिंधी सन्मेलनि जे मेजबानि करण जी। इन खां अंगु॒ ऐडहा साग॒या सिंधी मेराडकनि जी मेजबानी दुनिया भर जे जुदा जुदा शहरनि पई कई आहे- जिते जिते सिंधी वसयलि आहे। चयो थो वञे तह सिंधी संमेलनि जो आयोजनि जी …

लद॒पण जे जाखडे में मूंझयलि सिंध जी हिंदु बरादरी

लद॒पणि सिंधी हिंदुनि  लाई का नई गा॒ल्हि नाहे। इहा हजारनि सालनि खां पई लहिंदी पई अचे। अर्बनि जे काहि बैद सिंधीयूनि जी चङी लद॒पण थी हूईं इहा हिक ऐतहासिक सचाई आहे, साणु साणु इहा भी हिक हकिकत आहे तह इन लद॒पणि जो हिकु सबबु जोरी मूसलमानु कोम में शामिलि  करण जू वारदातयूं  पिणि हयूं । …

सिंधी भाषा ऐं संस्कृतीअ जे वाधारे में सिंधी पंचायूतिन ऐं नौजवाननि जी भूमिका

इहो घणो- तणो पयो बु॒धबो आहे तह जेकरि कहिं भी कोम खे खतम करणो हुजे तह इन कोम जी बो॒लीअ खे दबायो वञे या खजा॒जो वञे। ऐंडहा तजूर्बा मजीअ में घणा घुमरा थिया आहिनि। अमेरिका में खासि करे दे॒ही माण्हूनि यानी रेड इंनडयनि बाबति हिक चवणी मशहूर आहे तह – kill the Indian  and save …

सिंधी नानिकपंथी- हिकु फना थिंदड बिरादरी

नंढे खंड में सिंधी उन थोडनि कोमनि मां आहिनि जेके जुदा जुदा सकाफति ऐं दिन धर्म खे मञिंदड आहिनि। इहो ई नह पर विराहांङे बैद शायदि हि को कोम हूंदो जेको हिक बो॒ली गा॒ल्हिईंदे भी जुदा जुदा सुबनि में उन सोबनि जे खादे पिते जे तोर तरिकनि तोडे सकाफतुनि में पाण खे समायो हुजे। ऐडहो …

हिंदु सिंधी आखिर आहिनि किथों जा

सिंध तोडे पाकस्थानि में हिंदूनि ते वयलि का नई गा॒ल्हि नाहे। इहो सालन खां पया लहिंदो अचिनि।1947 में जदहि विरहाङो थयो तह 23 सेकिडो हिंदु हवा जेके हिअर मस 2 सेकडो वञी रहया आहिनि। जेकद॒हीं उभिरंदे पाकस्तानि (हाणे बंगलादेश) जी गाल्हि कजे तह उते भी सिंध वाङुरु ई हाल हो। हिंदुनि जी चङी आबादी हुई। …

मूंहिजे बलाग लिखण जो मक्सद

आऊं छो पयो बलाग लिखां ईनटरनेट मे सिंधी में मूवादु (वेब सईट तोडे बलाग़) खास करे देवनागरी सिंधी में नह जे बराबर आहे । ईन जा चङा सबब अहिनि- जिऐं – सिंधी ब़ोली हो वाहिपो घटिजणि, सिंधी ते हिंदीअ जो हिक नमुने जो दब़ाव, ब़े खे द़िसी संदिन जेडहो थिअण जी रिस ऐं पंहिजे सफाकत …