सिंध जी हिंदु बरादरि -आखिर केसिताईं असीं माठि रहिंदासिं

1947 में विरहांङे बैदि जेके सिंधी अग॒वाणि गांधीजीअ साणु पहिरों भेडो ग॒द॒या तनि जो चवण हो तह गांधीजी जेको पहिरों बयानि दि॒ञो सो इहो ईहो ई हो – चोऊ हिंदु-सिंधूनि खे तह यकदमि सिंध वांदाईनि। छो गांधीजी इऐं चयो इन जो जवाबु अजु असां जे अग॒यां आहे। जेके लद॒या, लद॒पण जा दु॒ख सठा तनि नेठि सुख दिठा पर जिन सिंध माऊं साणु हिक सचे सिंधी हूअण जो फर्जु निभायो अजु॒ इंतहाई दु॒ख पया दि॒सिनि। लज॒-लिट, लूटमारि, अग॒वा, कतलि या जबरनि मूसलमानि बणाअण जा वाकया तह तह ज॒णु रोज॒ जूं गा॒ल्हियूं थी पयूं आहिनि। हिक वारदाति मां सिंध जी हिंदु बरादरि उभरे मस थी जे बी॒ वारदाति कहिं हिंदु बरादरीअ जो मूहूं कारो कयूं वेटि आहे।

पिछाडीअ जे 30-40 सालनि जे वारदातनि में वाईडो कंदड हिकजेडाईं पई दि॒सण में इंदी आहे सो उहा आहे तह घणाईअ में रहिदड सिंधी मूसलमानि जी जूलमनि में खामोशी। ऐडही गा॒ल्हि नाहे जे सिंध में किद॒हि भी ऐको रहयो किन हो पर जहि मजबूति सां सिंध में इन खे पेश करणो खपिंदो हो तनि में सिंधी कोम नाकाम रहयो। इहो ई सबब आहे मौको अचण थे सिंधी उहा हिकजेडहायप कोन दे॒खारे सघिंदा आहिनि जहि का वाका असीं हमेशाहि ई कंदा आया आहयूं।

हिकु लफजु जेको सिंधी हमेशाहि सिंधी पहिजे पाण में जाम इसतमाल पई कंदा आया आहिनि सो आहे हिंद- सिंध। हिंद सिंध जे जरिऐ असीं सिंधी सिंध में मुख्तलिफ कोमनि खे उन नजरिऐ सां दि॒सण गुरिंदा आहियो जहि नजरिऐं  सां अमेरिका ऐं इंगलेंड में अंग्रेज पाण खे पेश कंदा अहियों। असीं सिंधीयूनि में इन सुत्र में गद॒जण जी चाहि का नईं नाहे। सिंधीं बो॒लीअ में झझे साहित्य मोजोद आहे जेको इन सोच खे हाथयूं पुखतो करे थो। अजु॒ भी हिंद तोडे सिंध में जा॒वलि नसल सिंध खे पाकिस्तानि खां कहि कद॒रि धारि करे दि॒सिंदी आहे।

पर वेझडाईअ जे किनि सालनि इन भाईचारे खे हिकु जबरदसत धक पई लगो आहे । जेतोणेकि सिंध में 1970 खां हिक ऐडही सिंयासी तंजिमि जो जोर रहयो आहे जहिजा उसूल कहि कदुरु सेकूलर हरया आहिनि। सिंधीं हिंदु बरादरी हमेशाहि ई भूट्टे पारां जोडायलि पाकिस्तानि पिपिल्स पार्टी जा हिमायति रहया आहिनि। जेसिताईं गा॒ल्हि आहे भूटनि जी तह नह जूलफिकार ऐं नह ई बेनाजीर सिंध जे हिंदु बरादरी साणु सुठा नाता हवा पर संदुनि बैद हालतुन ओडहयूं नाहिनि। पिछाडीअ जे किनि सालनि में हिंदुनि खे कहरि वधया आहिनि। बदकिसमतीअ सां इहो पिणि दि॒ठो वयो आहे तह सिंध में हिदुनि ते जबरनि धर्मु मठाअण, कतलनि ऐं कहि हद ताई लूटमार हिअर के धार्या नथा कनि पर पहिंजा कोठाईंदड सिंधी मुसलमानि ई कनि।

[slideshow]

इहा गा॒ल्हि चक, शिकारपुर में जिते चारि हिंदुन जो भरी भाजार में कतलि कयो वयो ऐं पर ङफते सिंध जे घोटकी शहरि में पिणि दि॒ठो वयो तह इन जूलमनि में वदे॒ में वदो॒ हथ सिंध जे पिपिल पार्टी जो रहयो आहे। ऐंडही गा॒ल्हि नाहे तह इहे मसला उमालक थी उभिरा आहिनि पर जद॒हि तह बेनाजीर जे वखतनि ताई मसला ऐदा॒ वदा॒ किन थिया हवा पर हिअर सुंदुनि जे लादा॒णे बैद पी पी पी इहा पार्टी कोन रहि आहे जेका अगे॒ हई। इहा गा॒ल्हि चक में भी दि॒ठी वई तह जेतोणेकि हाणोके सदर असिफ अली जरदारि इन मसले ते नोटिस भी वरतो पर इन जे बावजूद कातिलनि खे हथ करण तह परे पर कातिलनि थे शाई दि॒दड पी पी पी जे अग॒णाणु जो भी वारु वंङो किन थियो आहे।

अञा शिकारपूर जे चक में वारदाति मां सिंध जी हिंदु बरादरी उभरि मस हूई जे बि॒ हिक वारदाति सिंधी जे हिंदु बिरादरी जे मथोऊं कहर खणी अई। सिंध जे मिरपूर माथिले जे लाल फकिर महर मार्केट वठि रहिंदर इन ऐलाके जे हिक स्कुल में नोकरि श्री नंदलाल जी सिंकलिंदी धीअ रेंलक कुमारीअ खे पिछाडीअ महिने जी 23 तारिख रात जो अग॒वा कयो वयो। अहवाल मोजिब 24 तारिख सुबूह जे साढे सते लगे खां अग॒वा कयलि नयाणी लाई ऐफ आई आर दर्ज कराई वई जेका चारि कलाकनि जे जफाकशीअ बैद नेठि दर्ज कई वई । इन वारदाति जे विरोध में सिंध जी कोमिप्रसत पार्टी जिऐं सिंध कोमि महाज पारा मिरपूर माथिले ऐं ब॒यनि ऐलाकनि में ऐतताईजाजि मजाहेरा कया वया । साणु सिंध में हिदु पंजायति जे मूखि केकराम ऐं साधूराम जे अग॒वाणीअ में ऐतजाज कया वया जहि सबब कलाकनि ताईं सिंध – पंजाब हाईवे बंद रहयो ऐं टिन दि॒हनि तांई सिंध जी हिंदु बरादरि संधई पहिंजा धंधा बंद रखा। इहो सबब हो जे अगा॒वा कयलि हिंदु नेंनगर खे नाठि कोर्ट में पेश कयो वयो।

इन वारदाति में सिंध मां पाकिस्तानि जी नेशनल ऐसेल्मबली मेंमबर मियां मिटूंअ जो नालो सामहूं आयलि आहे। मया  मिठूं हिअर सिंधी मां पाकिस्तान पिपलस पार्टी जे टिकेट ते चूंडयलि नेशनत ऐसेलमबी जो नुमाईंदो आहे। हिक बि॒ गा॒ल्हि जहि साणु मिया मिठू गंढयलि आहे सो आहे सिंधीयूंनि जो गुरु भगत कुंवर राम। चयो वेदो आहे तह भगत कुंवर राम जो कतलि बर्चोढी जे पिरअ करायो हो जेको मिया मिठूअ जो पिऊ थिऐ।

चयो थो वञे तह रेंकलि कुमारीअ खे अग॒वा करण बौदि संदुसि जो जबरनि धर्म माठायो वयो ऐं मिया मिठूं जो पुठ नोवेद शाहि साणु जबरनि परणायो वयो ऐं संदुसि नालो फर्याल शाहि रखयो वयो। इन विच में अग॒वा थिअण जे बे॒ दि॒हिं मझंदि जो लग॒ भग॒ हिक वगे मिया मिठूंअ जे हिक पुट पारां रिंकल जे माईटन वटि फोन थो करे तह इहो चई तह जेकरि खेनि पहिजी नयाणीअ साणु मिलणो आहे तह बर्चोढी जे दर्गाहि में अचनि। बर्चोढी इहा जाई आहे जिते घणो तणो अण-मुसलमानि खे इसलाम कबूल करायो वेंदो आहे। सिंध में रहिदड कहि भी हिंदु खे बखूबी जा॒ण आहे ऐंडही जाई ते नेंगर केतरि आजादिअ सां पहिजी गा॒ल्हि रखी सघिंदि। इन गा॒ल्हियूंनि खे धयानि में रखिंदे रिंकल खें डि पि ओ जी आफिस में वठी अचण लाई चयो थो वञे जेके मियां इसलाम (मिया मिंठू को पुट)  नकारे थो छदे॒। इन बैदि पक इन ते बिहे तह तह रींकल खे हिदुं पंचायति हालि में गद॒जाणि कबि पर जद॒हि रींकरल कुमारीअ जा माईट उते पूजिनि था तह खेनि इहो थो ब॒धायो वञे तह मिया इसलाम हिंदु पंचायति हालि में रींकल खे संदुनि माईटन सां गद॒जाणीअ लाई इंकारि करे छदो॒ आहे।

इन विच में 25 तारिख, छंछर दि॒हिं जिंऐ सिंध कोमि महाज जो चेअरमेन श्री रियाज चांडियो रिंकल सा मिलण डि ऐस पी जी आफिस में अचण लाई चयो थो वञे। जद॒हि हो पोलिस आफिसर जे कमरे में धाखिल थिऐ थो तह डी ऐस पी साहिब जी पहिजीं कुर्सीअ में मिया मिठूअ जो भाऊ मिया शमल अफिसर थी वेठो पई नजर थो अचे। हाणे सवालु इहो आहे तह जद॒हि अग॒वा कंदडनि खे ऐडहो मानु मिलिंदो तह छा हो धूड कानुन जी हो परवाहि कंदा। इहो ई नह पर इन डि ऐस पे जो चवण हो तह जेकरि अव्हां रिंकल साणु मिया शमल जी हाजुरि में नथा मिलण चाहियो तह पोई नोवेद शाहि ( मियां मिठूं जो पुट जहिं सा रिंकल खे जबरनि परणायो वयो) साणु गद॒ हूंदो इन वक्त मिलि था सघो।

हाणे सवालु कहिंजे भी जहनि में इदों तह जनि रिंकल खे अग॒वा कयो से रिंकल खे गा॒ल्हिअण जी पूरा आजादी दिं॒दा…..छा इहो मूमकिन आहे ।

खैर नेठि रिंकल कुमारीअ खे अदातलि में पेश कयो वयो। कोनुन मोजिबु धारा 164 जे तहति बायनु दे॒अण लाजमी आह, सो रिंकल को बयान वरतो वयो। बिहिनि धरनि  जे वकिलनि जे मोजूदगीअ में रिकल बयानि दि॒नो तह हिन भजी॒ शादी करण नाहे चाहि पर खेसि अग॒वा कयो वयो आहे, कजहि माण्हूं घरनि जी छतनि खे इस्तमालि करे खेस जबरनि गि॒हले वया। हून इहो भी चयो तह हूअ नोविद शाहि (जहि सां खेसि जबरनि अग॒वा करे परणायो वयो) ऐं संदुनि हिमायति ऐं पिरनि वटि नह पर पहिजे माईटनि वटि मोठण थी चाहे। रिकल नह रूगो॒ इहो बयनि पहिजे माईटनि जे अग॒यो दि॒ञो पर माजिज जज जे अग॒या पिणि दि॒ञो। हाणे कोनून मोजिब तह इहो बयान रिकार्ड करणो खपिंदो हो इअं कोन कयो वयो।

कोर्ट में हालतुनि खे पहिजे उभतरि समझींदे मिया मिठू जा वकिलनि ऐं नोविद शाहि पाण हिकु तमाशो खणि कयो। हून (हठो कठो हूअण जे बावजूद) बेहोश थिअण जो वदो॒ समाशो कयो ऐं इन साजिश मोजिबु जज आदालति  जी कार्वाही मुतलवी करे छदी। जेतोणिक रिकंल जा वकिल रडयूं कंदा रया पर जज इन साजिश जी पुरि हिमायति कंदे अदालति खे मुतलवी करे छदी। इहो ई न पर रिंकलि खे शखरि जे दारुसलमि में गि॒ञि वञण जे बजाई शकरि जे हिक जैफाणे जिल खाने में रखो वयो। इहो सब हिक निहायति सुचलि समझयलि साजिशनि में तहत कयो पयो जिअ तह उन पुलिस थाणें में रिंकलि खे यातनाउ दई जबरन मिया मिठू जे चाहि मोजिबु बयान दे॒वाऐ सघजिनि। सिंध में अवामी आवाज में कालमि लिखिंदड श्री असद चांडियो मेजिब जद॒हिं रिंकलि जद॒हि रिकल मायूस थी पहिजे किसमति खे पिटे वेठी तह उमालक हिकु पूलिस आफिसर रिंकल जे कैद खाने में गुरे थो हथ में हिक फोन झले ऐं मायूसि रिंकल कुमारी खे गा॒ल्हिअण लाई दे॒ थो। छाकाणि तह रिंकल गा॒ल्हिअण खां जवाब दे॒ थी तह इहो पूलिस जो ऐदेदारि फोन जो इस्पिकरि आन करे थो जहि में उन ऐलाईके जे कहि सघारे वदे॒रे जो पई धमकयूं पई दि॒ञयूं जेके कजहि हिंन रित आहे- तूं जेकद॒हिं माईंटनि दा॒हिं मोटी वञण जो बयानि नह मठ्यो तह नह रूगो॒ तूं नह बचिंदिअं पर तूंहिंजा सब घर जा भाति भी मारया वेंदा ऐं शहरि जे सब हिंदुनि जे घरनि खे बा॒हि द॒ई साडयो वेंदो।

जेके सिंध खां बा॒हारि जा॒वलि आहिनि ऐं जिन थे सिंध जी हालतुनि जी पूरि जा॒णि नाहे तनि लाई रूगो॒ इहे मिडई धमकयूं आहनि पर सिंध में रहिद़ड सिंधी जा॒णिनि था इन धमकयूं जो मतलब। 1947 खां अजु॒ ताई ऐडहा जाम भेडा दि॒ठो वयो आहे तह ऐडहयूं काहियूं थियूं आहिनि। मसलनि शखर जे भरसां पुञे आकिल में साग॒या मंजर दि॒सण में आया जद॒हि पूलिस जे कडे बंदोबस्त जे बावजूद अंधरुनि सिंध जे कबाईलि सरदारनि हथियारनि सां लैस थी हिंदुनि जे घरनि ऐं दुकानि ते काहिं आया।

बहरआल, सागी॒ रित जो जिअं ई ईहा खबरि फैली तह पाकिस्तानि सदर आसिफ असी जरदारि इन मसले जो सख्त नोटिस वरतो आहे उमालकि रिंकल कुमारीअ खे शखर जे इन जैफाणे कैदि खाने मां कदि॒ मिरपुर माथिले रवाञो थो कयो वञे उहो भी सागे॒ राति जे बि॒ वगे॒। हाणे सवालु इहो आहे तह जज फैसलो कयो हो तह रिंकल जनानि जेल में रहंदी तह पोई उमालकि खेसि छो मिरपुर माथिले मोकलो वयो। इन जो सबब अजु॒ भी गु॒झो ई रहयो आहे। शखर खां मिरपुर माथले जो सफरि मस जेडहो कलाक दे॒ड जो आहे पर इन जे वाबजूदि जेका अध रात जो कहिं 17 सालन जी नियाणीअ जे रात जे अढाई लगे॒ में हिक जिले खां उमालकि बे॒ जिले पुजा॒अण जी तकड उहा भी कोर्ट जो हिदायतुनि जे उभतरि इन शक खे यकिन में थो मटे तह इन मामले में पूलिस ऐं वदे॒रे मियां मिठू जी पुरि मिलि भगत हूई।

27 तारिख सुबूहूअ जो रिंकल कुमारीअ खे साडे अठे वगे॒ कोर्ट में पेश कयो वयो। सुबूह साणि ई मिरपुर माथिले जे अदालति जे नजारा फिरयलि हवा। लाजमी आहे मिया मिठी ऐं संदुनि हिमायतुनि इन जी पुरि तयारि कई वई जहि जो पुरो साथु दि॒ञो मिरपुर माथइले जे प्रसासनि। आदालति दा॒हि इंदड सभ वाटयूं ते सख्त पहरा हवा। अदासति दा॒हि इंदड वेंदड सभ वाटयूं टेंकर जे जरिऐ बंद कयूं वयूं जिअ हिंदु बरादरी जा घटि में घटि माण्हूं कोर्ट पुजी॒ सघनि। ऐडही पाबंधी जेतोणेकि मिया मिठूअ ऐं संदुसि बिरादरीअ लाई कोन हूई। खेनि कोर्ट जे बा॒हरि तोडे अंदर दा॒ढाई करण जी पुरी मोकल हूई ऐं संदुनि भी इन जो पूरु फाईदो वर्तो। गा॒ढीयूं जे मथोऊ लाईडिस्पिकर लगा॒ऐं जोशिलूं इस्लामी तकरिरयूं पई पयूं वयूं ऐं हथयारबंध हवा में फाईरिग पई कयूं।

कोर्ट जे अंदरि भी नजारो को घठि वाईडो कंदड कोन हो। रिंकल कुमारीअ खां हिक पासे जद॒हि तह खेसि माईटनि खां  धार रखयो वयो पर ऐंडही का पाबंधी मिया मिठूं ऐं संदुसि पंज पुठनि ते कोन हूई। रिंकल जे वकिलनि जो चवण हो तह उन दि॒हिं भी रिंकल पहिजे माईटनि दा॒हिं मोटी वञण जो बयान पई दे॒अण चाहियो जेको हूंन पछाडीअ जे पेशीअ में दि॒ञो हो पर द॒फतरि तोर इहो मूमकिन कोन थी सघो छाकाणि तह कोर्ट में मोजिद सरदार रिंकल कुमारीअ खे हिक चमाट ताई हईं ऐं रिंकल खे दब पटिंदो चयो तह – हिअर तूं मूसलमानि आहें, मुसलमानि साणु पर्णयलि आहे ऐं सोहिंदो घरि साहूरनि में आहे ऐं तूं पहिजे माईटनि जे घरि मोटी मञण जो गाल्गि यकदमि नह कज। सोचण लाईक तह इहा गा॒ल्हि आहे तह इहो सभ थियो कोर्ट जे कार्वाहि महलि जज जी मोजूदगीअ में। इन बैदि रिंकलि कुमारीअ खां जबरनि बयानु लिखायो वयो कोर्ट महिजी काईवाही पुरि कंदे रिकंल खे नावेदि शाहि खे सोपयो पयो। वरि बे॒ पासे रिंकल जा माईटअ जिनि खे कोर्ट जे बा॒हरि ई जबरनि रोको वयो से उछांगियूं दिं॒दे रोईंदा रहया जद॒हि तह मियां मिठू जा हिमायति हवा में फाईरिग पई कयूं ऐं बैड बाजा पई वजया। कुल मिलाऐं ऐडहो हिकु माहोल पैदा कयो वयो जिऐं इऐ लगे तह हिंदु छोकरि पहिंजो मर्जीअ सां इसलाम कबूल कयो आहे। इहो चूंडयलि मिडीया जे अग॒यां भी सजी॒ दुनिया खे दे॒खारण लाई छोकरि खां बयानु दि॒वायो वयो। इहो चिटि रित साफु आहे तह मिडिया जे अग॒या ऐं जेको माहोल पई पैदा कयो पयो का भी 17 सालनि जी छोकरीअ खां उमेदि नथी करे सघजे तह हूई मिडिया जे अग॒यां भी पहिजें दिल जा गा॒ल्हि करे सघिंदी।

रिंकल कुमारीअ जे घर वारनि लाई हे दि॒हिं इंतहाई खोफ वारा आहिनि। जद॒हि खां घोटकी तोडे मिरपुर साथिले जे कोर्टअ फोसलो थियो आहे ऐं सिंध जी हिंदु बरादरी ऐतजातनि में आहे, रिकल कुमारीअ जे आकहिं खे धमकयूं पई मिलनि। हे धमकयूं ऐतरुं तह सख्त आहिन जे खेनि  लाहोर में हिक गुरुदुवारे में पनाहि वठणि पई आहे। इन विच में रिंकल कुमारीअ जे वकिलनि सिंध हाई कोर्ट कराचीअ में घोटकीअ जे इन कोर्ट जे खिलाफ अर्जी दाखिल कई जहिंजी सुनवाई 12 मार्च में थिअणी आहे। बे॒ पासे अग॒वा कंदड पारां भी हिक अर्जी दाखिल कई वई तह रिंकल कुमारी ऐं नोवेद शाहि खे रिंकल जे माईटनि जे पारां धमपयूं पयूं दि॒नियूं वञनि सो खेनि तहफूज द॒ञो वञे। इन अर्जी में इहो भी जा॒णायो वयो आहे तह हिंदु बरादरि पहिंजे नाणे जो जोर ते रिंकल ऐं नावेद साहि खे नुकसानि था पुजाऐ सघनि। बहरआल कोर्ट इन अर्जी ते का भी बहसि कोन कई वई छाकाणि तह कोर्ट जो मञण हो तह छाकाणि तह सिंध हाई कोर्ट इन मामले में अगे॒ ई फोसलो कयो आहे 12 मार्च इन ते सुनवाई कंदो। कोर्ट खां बा॒हरि निकरिंदे ऐं खानकि टी वी चेनेलि में फोन जरिऐ गा॒ल्हईंदे रिंकल जेतोणोकि चयो तह हूअ पहिंजी मर्जीअ सां मुसलमानि थी आहे पर इहो सभको थो समझे तह रिकलि खे ऐडहा बयान अग॒वाकंदड जे जबरदस्त दबाऊ सबब ई दे॒अणो थो पवे।

इन विच में तमाम ऐलाजनि ऐं रिंकल जे मामे जे अर्जी दे॒अण सबब पाकिस्तानि सुपरिम कोर्ट जो चिफ जसटिस जनाब इफतिकार महमद चौधरी रिंकल ऐं ब॒यनि बि॒न हिंदु नियाणियूनि जे जबरनि अग॒वा थिअण ऐं इन बैदि जोरि मूसलमानि ठाहण जो मामले लाई 26 जी तारिख पक कई आहे जद॒हि मूख्य नयाधिश इफतिकारि मूहमद चौधरी पिणि इन मामले जी सुनवाई कंदो। इहो ई सबब आहे तह हिंदु बिरादरिअ खे कहिं कदुरु उमेदि जा॒गयलि आहे तह हिन भेडे संदुनि सां नयाऊ मिलिंदो।

रिकलि जी काहाणी का हेकली काहाणी नाहे। थार परकारि में जिते खोड सिंधी दलित घणाईअ में रहिनि था उते दलितनि जे नयाणयूंनि जे अग॒वा करण जूं वार्दातयूं रोज पयूं थेनि। इहे मामला कद॒हि भी अखबारयूंन जूं सुरखयूं कोन बणयूं। पिछडीअ जे पंधरनि दि॒हनि में टे हिंदु नियाणयूं अग॒वा थियूं आहिनि। सभनि जी इहा ई कहाणी आहे जेका रिंकलि जी। पहिरोऊं अग॒वा थिअण, पोई धर्मु मठण ऐं बैदि में कोईटनि पारां इन दा॒ढाई खे आमली जामो पहिराअण। हिंदुनि जी तह को वाई बुधण वारो नाहे, कानुन जी तह गा॒ल्हि ई परे आहे खासि करे हेठई अदालतुनि जे नसबत। इन सभनि कहरनि जी पधराई पाकिस्तानि जे इंसानि हकनि जी तंजिम पिणि कई आहे। रिंकल मामले में संदुसि जेको बयानि जारि कयो सो इहो चयो वयो जेको रिंकल जा माईट तोडे सिंध जी हिंदु बरादरी चई रहई आहे तह रिंकल खे जोरि अग॒वा कयो वयो पोईं संदुसि धर्मु मठायो वयो आहे।

जेसिताईं गा॒ल्हि कजे मिडिया जी तह सिंध में सिंधी मिडीया में सवाई अवामी आवाज खे का भी सिंधी मिडीया इन मामले खे को भी कवरेज कोन दि॒ञो। पर इन जे बावजूद कहि हद ताईं पाकिस्तानि जी अंग्रेजी मिडया, परदे॒हि में बी बी सी, ऐं हिंदुस्तानि जी अंग्रेजी अखबारि मसलनि पाईरिअर, हिंदु, जी नयूज, आऊटलूक ऐं थोडनि हिंदी मीडीया मसलनि अमर-उजाला ऐं गुजराति में कच्छ मित्र सिंध में हिंदु संधीयूंनि सां थिदड दा॒डायूं खे कवरेज दि॒ञो।

पाकिस्तानि में जेतोणेक आम सिंधी मुसलमानि खोमोश रहयो पर के अख्बार नुवेसि तोडे कालम लिखिदड इन मामले खे जोर शोर सां हिमायति कई मसलनि असद चांडियो (रोजानो  अवामी आवाज) अदी वेंगसि ( रोजानो इबारत) ऐं जरार पिरजादो (रोजानो काविश)। इन हिमथवारनि मां श्री असद चांडियो खेण लहणे। हून नह रुगो॒ सिंधी सिविल सोसाईटी खे ऐतजाज ताई हिमतायो पर रिंकल मसले जूं तमाम घणयूं हकिकतयूं पहिजे कालम जे जरिऐं आम सिंधीयूनि जे अग॒यां रखयूं। इहो ई नह पर बर्चडे पिर मिया मिठूं जे पिणसि जो सिंधी संत भगत कुंवर राम जे कतल में हथ जी गा॒ल्हि भी उन साईं ई रखि जहि सबब खेसि रोज धमकयूं पई मिलिंदयूं आहिनि। ऐतजाज महलि भी हूं पहिंजे ब॒नि नियाणियूं सुधो ऐतजाज कया।

पर जेसिताई गा॒ल्हि कजे ब॒यनि सिंधी सिंविल सोसाईटी जे अग॒वाणुनि जी तह संदुनि हर मूमकिनि कोशिश कई तह इन मसले खां परे रहजे। सिंध में औरतुनि जे हकनि जी लडाई हडिंदड अमर सिंधु खामोश रहि। जद॒हि ऐतजाजनि में शामिल भी थी तह रूगो॒ अठी  ओरतुनि जे आसमि दि॒हिं उहो भी थोडी देर लाई ज॒णु हूंन  इन ऐतजाजनि में शरिक थी हिंदु बिरादरीअ ते थोडो लाथो हूजे।

जां खा हिंदुस्तान जो विरांङो थियो आहे तां खां सिंध ऐं हिंद में रहिदड सिंधी साहित्य सां वासतो रखिदड लेखकनि दे॒ वठि जो रिसतो हमेशाहि रहयो ई आहे। कद॒हिं हिंद जा लेखक सिंध वया आहिनि तह कद॒हिं सिंध जा लेखक हिंद में ईंदा रहया आहिनि पर जेसिताईं गा॒ल्हि कजे सिंध में हिंदुनि ते जुलमनि जी तह कहि भी इन ते वातु मां हिकु अखरि कोन उकारियो सवाई पुने में रहिदड दादी ईंदरा पुनेवाला जे जहि इन मसले ते जाम लिखो आहे खासि शोसल मिडिया में मसलनि फेसबूक में। इहो ई नह हून इन सभनि लेखतनि जी भी तनकिद (निंदा) कई आहे जेके खामोश आहिन।

सिंध में हिंदु बिरादरी जेतोणेकि हमेशाहि भूठे जी पाकिस्तानि पिपल्स पार्टी खे वोट दि॒दा रहया आहिनि पर जेसिताईं गा॒ल्हि आहे सिंध में हंदु बरादरीअ जी तह पिपल्स पार्टी जा मेमबरि ई हिदुनि ते थिंदड जुलमनि में शरिक रहया आहिनि। सिंध में ब॒यूं पार्टियूं मसलनि अयाज लतिफ पलेजे जी अवामी तहरिख 8 मार्च औरतुनि जे आलमी दि॒हिं हिंदु नयाणयूंनि ते थिंदड जुलमनि जे विरोध में पुरे सिंध में भूख हडतालयूं कयूं ऐं ऐतिजाजी मुजाहेरा कया। जिए सिंध कोमि महाज 12 मार्च जो कराचीअ में जलुस कद॒हण ऐं सिंध हाई कोर्ट में हाजिर थिअण जो ऐलान कयो आहे। फेसबूज में सिंधी हिंदुनि थे थिंदड जूलमनि जी मजमत (निंदा) थिऐ पई। इन सेकूलर विचार रखिंदड मुसमानि कराची, हैदराबादि तोडे तोडे ब॒यनि शहरि में उन शहरनि जे प्रेस कलबनि जे अग॒यां ऐतिजाज कया। इहो ई नह साना (जेका अमेरिका में सिंधीयूंनि जी संसथा आहे) ऐं लंडनि जी वर्लड सिंधी कांग्रेस इन जी कडे लफजन में गिला कई आहे।

इन सभनि मां जेतोणिक वाईडो कंदड रुख रहयो आहे हिंदुस्तानि तोडे दूनिया भर जे सिंधी हिंदु बरादरीअ । नह हिंदुस्तानि में नह ई हितुस्तानि खां बा॒हरि कहि भी सिंधी संसथा इन बाबति को बयानु दि॒ञो। ऐडही गा॒ल्हि नाहे जे खेनि कजहि जाण नाहे इन मसले बाबति। हिदुस्तानि में कनि हिंदी तोडे अंग्रेजी मीडीया इन मसले खे कवरेज दि॒ञो आहे पर छा तह हिंदुतानि में सिंधीयूं जी कहि कदरु वेरुखि आहे सो इन मसले ते कहि भी धयानि दि॒अण जी जरुरत नह पई महसुस कई आहे। हे जुलमअ सिंध में 30-40 सालनि खां वधिक अर्से खां पया थिन पर नह जा॒ण छो असां जो जमिर कोन गा॒गिंदो आहे।

हिंदुस्तानि में के सिंधी सिंयासत में रहया आहिनि पर नह कांग्रेसि वारा जागा नह बिजेपी पारा। पर जद॒हि कशमिर में हिंदु पंडितनि ऐं पाकिस्तानि में सिखनि जी गा॒ल्हि ईंदी आहे तह हो इन ते जाम हाई घोडा कनि पर जद॒हि पहिजनि जी गा॒ल्हि अचे तह अगो॒ पोई माठि थी वञिन जिअं कजहि थियो ई कोन्हे। इहो ई नह जद॒हि घोधरा में रेल खे  बा॒हि दि॒ञी वई तह कुबेर नगरि जी ऐम ऐल ऐ माया कोडनाणी उन हादसे जे दि॒हि तमाम औखनि समाल कया हवा मोदीअ खे गुजराति ऐसल्मबली में पर जेसिताईं सिंधूयूनि जी गा॒ल्हि ईंदी आहे तह माईअ मां हिक अकरि भी कोन उकिरिंदो आहे। सागि॒ माठ कुमार ऐलाणीअ जी भी आहे जेको उहल्हास नगर मां चूंडयलि आहे।

सिंध में हिदु बिरादरी तमाम दुखनि ऐं सुरनि में आहे खेनि मदद जी सख्त जरुरत आहे। सिंध में रहिदड सिंधीयूंनि लाई मसलो इहो भी आहे तह हो खूलि रित हिंदुतानि जे सिंधीयूंनि खां मदद गुरण जी आछ कोन था करे सघिनि छाकाणि तह जेकरि हो इऐं कंदा तह यकिनि हो हिदुस्तानि जा ऐजेंट करार दि॒ञा वेंदा। अजु॒ इहो तमाम जरुरि आहे तह असी हिदुस्तानि सरकारि ते असी जोर दि॒अऊं जिअं बचि रहयलि सिंधीयूंनि खे निकारो वञे ऐं हो सुख जी जिंदगी गुजारे सघिनि।

विछाडिअ में कजहि वेबसाईट जा द॒स था द॒सया वञिनि दिअ पढिंदडनि खे सिंध में हिदुनि ते थिदड जूलमनि जी जा॒ण पवे खासि करे हिदु नियाणयूं जे अग॒वा थिअण जे मामले नसबत

http://timesofindia.indiatimes.com/world/pakistan/Pakistan-Supreme-Court-directs-police-to-trace-three-Hindu-women/articleshow/12189273.cms

http://zeenews.india.com/news/south-asia/hindu-girl-forced-conversion-spark-protest-in-pak_761761.html

http://www.globalpost.com/dispatch/news/regions/asia-pacific/pakistan/120306/rinkle-kumari-missing-hindu-woman-ordered-appear

http://www.hindujagruti.org/news/13609.html

http://networkedblogs.com/uWlTg

http://www.bbc.co.uk/news/world-south-asia-17272943