फैसलो करयो रहण डिं॒दौउ या लडे॒ वञऊ – हिंदु अगवानि जूं दाहिं

हे अहवाल सिंधी मां शाई सिंदड अखबार अवामी आवाज मां लरतल आहे। सिंधूयूंनि जे समझ लाई हित देवनागरी लिपीअ में शाई कजे थो

मूल लेख की लिंक

http://www.awamiawaz.net/%D9%81%D9%8A%D8%B5%D9%84%D9%88-%DA%AA%D8%B1%D9%8A%D9%88%D8%8C-%D8%B1%D9%87%DA%BB-%DA%8F%D9%8A%D9%86%D8%AF%E2%80%8D%D8%A4-%D9%8A%D8%A7-%D9%84%DA%8F%D9%8A-%D9%88%DA%83%D9%88%D9%86%D8%9F-%D8%B3%D9%86/print/

फैसलो करयो रहण डिं॒दौउ या लडे॒ वञऊ – सिंध मां 1947 खां भी लड॒पण पई थिऐ – इंसानी हकनि जी स्डिंडिग कमिटी जे आडो॒ हिंदु अगवानि जूं दाहिं

कराची (रिपोर्ट शकिल नाईच)- इंसानी हकनि बाबति कोमी ऐसमबली जी ऐसटेंडिग कमिटी सिंध सरकार खे सिफारिशयूं कयूं आहिनि तह हिंदुनि जो जोरी मज़हब (धर्म) वारे अमल खे रोकण ऐं हिंदुनि जे आग़वा जे डो॒हारिनि खिलाफ कार्वाही करण ऐं हिंदुनि जे लद॒पण खतम करण लाई कानुनसाजी कई वञे। सुबे जे अंदर कारो कारी (हिक प्रथा जिन में शक जे आधार ते मूसलमानी पहिजे उलाद जो खासि करे नियाणियूंनि जो कतल कनि) जे खातमे लाई सख्त कानून ठाया वञिनि ऐं जिल मेनूअल हाणे तबधील करे जदाऐद दोर मूताबिक जा जेल मेनूअल ठाया वञिनि। इहे गा॒ल्हियूं जूमे डि॒हूं ऐस्टेंडिग कमिटीअ जे चेअरमैन रेयाज फतयाना जे सदारति में थिअल इजिलास में कयूं वयूं। इन मोके ते ऐडिशनलि आई जी सिंध पूलिस पारां हिंदुनि के अगवा ऐं लड॒पण बाबति पेश अंग अखरनि खे कोमी ऐसेल्मबली जी ऐसटेंडिग कमिटी ऐं अकलमत (अल्पसंख्यक) तंजमयूं जे ऐहदेदारनि रद करे छड॒यो। इजलास में ऐडीशनलि आई जी फलक खुर्शिद अंग अखर पेश कया तह् केतिरा हिंदु अगवा थियलि आहिनि ऐं केतिरा हितोऊ लडे॒ वया आहिनि … इन ते ऐम ऐन ऐ ( मेमबर नेशनलि ऐसेलबली) अरेश कुमार सिंह चयो तह पंजनि सासनि में ऐतरी लड॒पण थी आहे जेतरि 1947 में भी नह थी हूंदी, सिर्फ मिरपुर खास में सवन माण्हूं अगवा थियलि आहिनि ऐं हितोउ खां लडे॒ वया आहिनि। ऐडिशनलि आई जी चयो तह हिंदु मेंहिंती आहिनि सो खेनि टारगेट करे निशाणो पयो बणायो वञे। हो हर शबऐ में कामयाब आहिनि। सदर जरदारी टिन मेम्बरनि जी कमिशन जोडी आहे। आरेसर कुमार सिंह चयो तह असां खे अन अंग अखरनि ते कतई ऐतबार नाहे। हिंदुस्तान सरकार पाण चयो आहे तह् सिंध मां आयलि 500 हिंदु खांदान इते तर्सया पया आहिनि ऐं वापस वञण खां इंकार कयो आहे। केतिरा हिंदु कतल भी थिया आहिनि, जेकरि हिंदु नह रहया असीं तबाहि थी वेंदासी। हिंदु माईनार्टी ऐलाईंस जे मंगला शर्मा चयो तह सिर्फ सेपटेंबर में 12 हिंदु छोकरियूं मसलमान बणायूं वयूं आहिनि इन्ही मां सिर्फ हिंक हिंदु नेंगरी वारिसन खे मोटी मिली आहे। हिंतोउ सिर्फ हिक साल में साढा सत हजार हिंदु खांदान हिंदुस्तान लडे॒ वया। गूजरलि 20 सालनि में डे॒ढ लखु हिंदु लडे॒ चूका आहिनि। सिंध में पंज सेकिडो नोकरयूं भी हिंदुनि जे हथ में नाहिनि। हिंदु पर्सलनि ला (कानून) भी नाहे। हिंदु काउंसिल जे टिकम मल चयो तह हिंदुनि जी वडी॒ तकलिफ इहा आहे तह खेनि जबरदसती मूसलमान बणायो वयो वञे।  असां खे इन सिलसिले में हकिकत में ऐतराफ करण घुरजे, छोकरि खे 20 डि॒हनि में कोर्ट अंदर आणे मूसलमानि हूअण जो बयान था देअरो ऐं आडही छोकरि खे धीअ, भेण बणाअण बजाई शादी छो पई करई वञे ??. असां पैसो तह कमाऐ वठींदासि पर इजत वापस नह मिलिंदी। असां खे नौकरियूं, तरर्कियूं , कम नह घुगजिनि. असी अकलमियत (थोडाई) में आहियूं, असां जो कमु फर्मानबरादरी करण ऐं समाजिक तालूक बेहतर बणाअण आहे। हाणे वकत अची वयो आहे तह असां खे रहण दि॒ञो वेंदो या लडो॒यो वेंदो. .जोरी मूसलमान करण जो ऐतराफ कंदे कानून ठहयो तह असी दडे॒ वञण ते मजबूर थिंदासि। “या तह रहण ड॒यो यह भज॒ण डि॒यो”  ऐडीशनल आई जी चयो तह असां कोनून जा पाबंध आहियूं। कोनून मूताबिक नेंगर ऐं नेंगरी खे अदालत में पेश कंदा आहियूं, पोई जेको फैसलो अदालत कंदी आहे उन ते अमल कंदा आहियों। ऐम कयू ऐम जे ऐम ऐन ऐ कशूर ज़रही चयो तह हिंदु असां खा वधिक देश भग्त आहिनि, वाक्ई असां खे हाणे सोचणो खपे ऐं आमली कदम खणणा पवंदा, हे संगिन मसलो आहे। आमली लेविल ते मूसलमान बणाअण वारे मामले ते पाकिस्तान जी बदनामी थी रही आहे ऐडहो कोनून ठायो जो अगते को भी इंअ नह करे सघे। माईनारटी अतहाद जो रमेश सिंह चयो तह मसला आहिनि इन लाई तह हिंदु लडे॒ था वञिनि। हिंदुस्तान जो वजीर चवे थो तह 3 सालनि में 1290 खांदान पाकिस्तान मां हिंदुस्तान आया ऐं 790 खे शहरियत (नागरिकता) भी मिली वई आहे। शखर रेंजनि मां घणा हिंदु लडि॒नि था, जेकड॒हिं असा खे अगवा थिअण बैदि भूंग (फिरोती) दे॒अणी पवे तह पूलिस जो केडहो कम । अल्पसंखयक (धार्मिक)  जो तहफूज कयो वञे। बलूचिस्तान जो ऐम पी ऐ (ऐम ऐल ऐ) सतराम सिंघ डोमक ऐं सिंध जो ऐम सरहिंदो चयो असां खे काईदे आजम वारा हक डे॒यो। काईदे आजम पाकिस्तान जी पहिरीं सदारत जोगिंरनाथ मंडल खां कराई। पाकिस्तान ते सभनी खां अगु॒ तिर खाअण जी गा॒ल्हि ऐम पी सिंघा कई हूई। पाकिस्तान ते डू॒खयो वकत आयो तह पोई अल्पसंख्यक अगु खां अग॒ते रहिंदा। ऐम ऐन ऐ अरेश कुमार सिंह चयो तह सिर्फ पूलिस इहो बु॒धाऐ तह छा इहा सरकार जी पालीसी आहे तह अलपसंख्यक लडे॒ वञिनि!!! जे इअं आहे तह बुधाऐ छडो॒ तह असीं चूप करे वेही रहिंदासी। ऐम ऐन ऐ इनायत अल्लाह चयो तह हिंदुनि सां थिंदड कार्वाही दहशदगर्दी आहे। इहा शर्म जी गा॒ल्हि आहे जे हिंदु इतोउ खा लडे॒ वञिनि। असां 20 सालनि खां सिंध अंदर निजी जेलनि जो बू॒धोउ पया। हिंदु पर्सनल ला ठाहयो वञे। हिंदुनि खिलाफ डा॒ढाईनि जा केस देहशदगर्दी जे खातमे वारे केसनि वाङुरु ऐ टी सी अदालतुनि में हलाया वञिनि। थोडाईवारी बिरादरी असांजो किमता सरमायो आहिनि, असां संदुनि लड॒ण खे बरदास्त नथा करे सघऊं। ईसपेशल होम सेक्रेटरी मूदसर ईकबाल चयो तह हाणे असां हिंदुनि जे तहफोज लाई हर जिले में डेपटी कमिशनर जे सर्बरादीअ में कमिटूयूं ठाहयूं आहिनि जिन में ऐस ऐस पी ऐं पंज अल्पसंख्यक बिरादरी जा नुमाईंदा हूंदा, इन मोके ते खिताब कंदे कमिटी जे चेअरमैन रियाज फतयाना चयो तह इन में को भी शक नाहे तह थोडाई वारे कोम खे भी ओतिरा ई हक मिल्यलि आहिनि जेतिरा मूसलमानि खे आहिनि। काईदे आजम जी 11 अगस्त वारी तकरिर में मजहब बाबत चयो हिते को भी बालातर या मातहत नाहे, असा वठ मजहबी जनूनेत जो कलचर जियां उल हक पैदा कयो ऐं हून नफरत जो बि॒जु॒ पोखियो जेको असी अजु॒ भोगियूं पया। चेतराल में केसाश नसल खे मूसलमान करण लाई कजहि इंतहा पंसंदी उते पहूता मके जे फतहि वकत हजरत पाक सली अल्लाह वसलम वाजिहि ऐं सख्त पेगाम दि॒ञो हो तह अजु॒ खां पोई सभनि खे हिक जेतरा हक हासिल हूदा। अजु॒ पाकिस्तान में हिदु अगवा वया थेनि, संदुनि नेंगरिनि खे जोरी मूसलमानि पयो कयो वञे, हिंदुनि जे तहफूज जी जिमेवारी रियासत जी आहे। गुंजरवाला में ईसाईंनि साणु इंतहापंसंदी डा॒ढाई कई वई तह असीं वाजी लफजनि में मजमत कई। हिन हकूमत सिंध खे शिफारशू कयूं तह थोडाई वारे कोमनि के ईबादतगारि ते गु॒झयूं केमेरा लगायूं व़िनि जहिं जू कनेकशन थाणे सां हूजिनि। थोडाई वारे कोमनि जे इबादतगारनि जी जिमेवारी रियासत जी आहे। हिंदु छोकरी जे मूसलमान थिअण लाई धार कोनून सिंध सरकार ठाये ऐं इन द॒स में क्रिमिनल कानून में तरमियम करे छोकरीअ खे “सेफ हाउस” में रखयो वञे ऐं खेसि हिक महिने ताईं कहिं सा भी मिलण नह डि॒ञो वञे। औकाफ खाते में थोडाई वारे बिरादरी ऐबादतगाहिनि जी सार संभाल लहण अकलियत बिरादरी जे आफसर खे डि॒ञी वञे सूमर दि॒हिं अकलियत बिरादरी जा नुमाईंदा इसपेशल होम सेक्रेटरी होम मूदसर इकबाल साणु ब॒ टे कलाक गद॒जाणी कनि। हून चयो तह हिअर सभनी दा॒हि इहो सख्त पैगाम वञणो घुरजे तह् अकलतियूंनि सां डा॒ढायूं बरदास्त नह कई वेंदी। खेनि जोरी मजहब बदलाअण ते मजबूर नह कयो वोंदो। खेनि अगवा नह कयो वेंदो आई जी सिंध पूलिस जे आफिस में हिकु सेल कायम कयो ऐं इन जी ओज सा मिली अंगनि अखरनि जी भेटि कयो, नोकरयूंनि में पंज सेकिडो कोटा अकलियतिनि खे दि॒यो असा बि॒हर बी॒ टीन महिनिन में इंदासी तबधीली अचण घुर्जे। इजलास में कारो कारी बाबति रियाज फतियाना चयो तह सिंध पूलिस हे सुठो अमल कयो आहे जो 1213 सेल खोलयो आहे। सिंध सरकार खे घुर्जे तह कारो कारी जे खातमे लाई मजहबी अग॒वान आलिमनि साणु राबतो कयो वञे। तालिमि अदारनि में कारो कारी खे निसाब में शामिल कयो वञे ऐं इन मूहिम में सिविल सोसाईटी खे भी शामिल कयो वञे, मिडिया खां मदद वरती वञे तह जिअ मिडीया जे खबरूनि जो नोटिस संसद ऐं अदालत वठनि। असीं यूं ऐन डी पी जा भी शुकरगुजर आहियूं जे हो कारो कारी जे खातमे लाई कम करे पई । हिन ऐसट्डिंग कमीटी खे कारो कारी ते गण॒ती आहे ऐं सिंध हकूमत खे शिफारिश थी करे तह इन मसले खे हल करे। सिंध जे जेलनि बाबति रियाज फातियाना खाते जे सेक्रेटरी अली हसन बरोही जरिऐ सिंध हकूमत खे शिफारिश कई तह जेल मेमूअल में हिअर ई तबधीली कई वञे। कैदिनि खे फोन जी सहूलियत डि॒ञी वञे। नंढे डो॒हनि वारनि खे जमानत कराई वञे। जेलनि में सब-पोस्ट आफिस कायमि कराई वञे। जेलनि में अखबारनि जा इसटेंड लगाया वञिनि। अखबारनि के मालिकनि खे लिखित में दर्खासतयूं डि॒नियूं वञिनि तह हो जेलनि में मूफ्त में अखबारु डे॒नि, जेलनि में रांदियूंनि जो बंदोबस्त कयो वञे, जेलनि में नंढयूं बेरेकनि में घणनि कैदियूंनि खे बंद करण वारो सिर्सलो बमद कयो वञे। हेपटाईटिस समेत सभिन बिमारियूंनि जी टेस्ट वरती वञे। जेलनि में वड॒यूं इसक्रिननि वारयूं टी वी लगा॒ऐ फिलमसूं डेखारयूं वञिनि। कैदिनि जा ऐकाउंट खोलया वञिनि जिअ संदनि मेहनत मजूरि जो मोआफजो ऐकाऊंट में जमा कराऐ सघजे। कैदिनि खे वकिलनि साण मिलण डि॒ञो वञे। कैदियूंनि जो नफसयाती माहिरनि खां पिणि ईलाज करायी वञे कैदिनि खे कट कार्ड डि॒ञो वञे जहिं में हिनिन जा तफसिल लिखयलि हूजिनि।

 

 

One thought on “फैसलो करयो रहण डिं॒दौउ या लडे॒ वञऊ – हिंदु अगवानि जूं दाहिं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *